kapil

कॉमेडी शो ‘The Kapil Sharma’s Show’ में नजर आएंगे अन्ना हजारे

kapilमुंबई: वैसे तो कपिल शर्मा के शो में हमेशा कई बड़े अभिनेता अपनी फिल्म के प्रमोशन को ले कर आते ही रहते हैं लेकिन इस बार कपिल के शो में आपको एक ऐसा शख्स नजर आएगा जिसके बारे में आपने कभी सोचा भी नहीं होगा।

जी हां इस बार शो में भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहीम छेड़ने वाले समाजसेवक अन्ना हजारे नज़र आएंगे।

गांधीवादी और सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे पहली बार किसी टीवी शो में नजर आयेंगे। खबर है कि शुक्रवार देर रात में प्रसारित होने वाले शो के लिए अन्ना हजारे शूटिंग करेंगे। अन्ना हजारे अपनी पहली आने वाली फिल्म ‘अन्ना: किसन बाबूराव हजारे’ के प्रमोशन के लिए कपिल शो में नजर आयेंगे। 130 मिनट की इस फिल्म को एक साल में शूट किया गया|

इस फिल्म को अन्ना के पैत्रिक गाँव रालेगढ़ सिद्धी के अलावा अहमदनगर, मुंबई, नई दिल्ली,जम्मू-कश्मीर, लद्दाख और राजस्थान में फिल्माया गया है।

फिल्म का निर्माण राइज पिक्चर्स प्राइवेट लिमिटेड और निर्देशन शशांक उदापुरकर ने किया है। शशांक ने फिल्म में अन्ना हजारे का किरदार निभाने के साथ ही फिल्म का संवाद और पटकथा भी लिखी है।

शशांक के अलावा फिल्म में अभिनेत्री तनिषा मुखर्जी भी हैं जोकि एक युवा पत्रकार भी हैं। ‘द कपिल शर्मा शो’ से कपिल शर्मा, नवजोत सिंह सिद्धू, सुनील ग्रोवर, चंदन प्रभाकर, कीकू शारदा, अली असगर और सुमोना चक्रवर्ती जैसे कलाकार जुड़े हुए हैं।


 

पंजाब में बसपा ने नौ प्रत्याशियों की सूची की जारी

चंडीगढ़। बहुजन समाज पार्टी ने पंजाब विधान सभा चुनाव में नौ प्रत्याशियों को घोषित कर दिया। विधान सभा चुनाव में बसपा की नैया पार लगाने की जिम्मेदारी अवतार सिंह करीमपुरी को सौंपी गई है। बसपा हाईकमान ने करीमपुरी को प्रदेश अध्यक्ष बनाने के साथ ही पार्टी के राष्ट्रीय कार्यसमिति का भी सदस्य मनोनीत किया है।

पंजाब विधान सभा चुनाव को देखते हुए सभी राजनीतिक पार्टियों द्वारा चुनावी रणनीति को अंतिम रूप दिया जा रहा है। दलित वोट बैंक की राजनीति करने वाली बहुजन समाज पार्टी भी पंजाब में बड़े पैमाने पर अपने प्रत्याशी चुनाव में उतारेगी।

पंजाब में कुल मतदाताओं के लगभग 30 प्रतिशत से ज्यादा दलित मतदाता हैं। ऐसे में बसपा अपना जनाधार बढ़ाने को खासा बेचैन है। रविवार को जालंधर में बसपा की गोपनीय बैठक हुई। बैठक में प्रदेश कार्यकारिणी का गठन करने के साथ ही नौ विधान सभा प्रत्याशियों की भी घोषणा की गई। बैठक में बसपा हाईकमान की अनुमति से अवतार सिंह करीमपुरी को पंजाब का प्रदेश अध्यक्ष बनाने के साथ ही फिल्लौर क्षेत्र से पार्टी का प्रत्याशी भी घोषित किया है।

वहीं नवांशहर से डा नछत्तर पाल , चब्बेवाल से गुरलाल सैला , बंगा से ठेकेदार रजिंदर सिंह, खरड़ से हरभजन सिंह बजहेड़ी,  माहल कलां से डाण मक्खन सिंह, जैतों से किक्कर सिंह, फरीदकोट से गुरबख्श सिंह चौहान, तलंबडी साबो से हरजिंदर सिंह मिट्ठन को पार्टी प्रत्याशी घोषित किया गया।


 

दौड़ लगाने गए सात युवकों को अज्ञात वाहन ने रौंदा, एक की मौत

 मथुरा। थाना व कस्बा राया में रविवार की सुबह राया बल्देव रोड पर गांव से दौड़ लगाने आए सात युवाओं को अज्ञात कार ने रौंद दिया, जिसमें सभी घायल हो गए। घटना की जानकारी मिलते ही ग्रामीण आ गए और घायलों को उपचार के लिए भेज दिया, जिसमें एक की उपचार के दौरान मौत हो गयी, तीन की हालत गंभीर बनी हुयी है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

रविवार की सुबह बल्देव रोड पर स्थित गांव बना निवासी गोविन्दा पुत्र बच्चू सिंह, विकास पुत्र श्रीपाल सिंह, सरजीत पुत्र कोमल सिंह, पप्पू पुत्र डिगम्बर सिंह, सुशील पुत्र राजेन्द्र सिंह, भोली पुत्र देवी सिंह, लोकेश पुत्र पूरन सिंह प्रतिदिन की तरह से दौड़ लगाने गए थे।

बताया कि गया लौटते वक्त व सियरा गांव के समीप बम्बा के पास बैठ गए तभी बल्देव से राया की तरफ तेजी से जा रही कार ने रौंद दिया जिस पर दिल्ली का नम्बर लिखा हुआ था और उसकी लाइट बंद थी कार की इतनी तेज गति से थी कि कुछ तो टक्कर लगने के उछलते चले गए और भोली तो काफी दूर तक कार से घसीटता हुआ चला गया। घटना की जानकारी मिलते ही ग्रामीण मौके पर आ गए घटना की सूचना मिलते ही थाना प्रभारी विजय कुमार मयफोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए और घायलों को आनन फानन में उपचार के लिए चिकित्सालय भेजा गया जहां उपचार के दौरान विकास पुत्र श्रीपाल ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है ग्रामीणों ने बताया कि विकास आर्मी में जाने की तैयारी कर रहा था और उसके पिता श्रीपाल सिंह भी आर्मी में है और वह इस समय जम्मू कश्मीर में तैनात है। घटना के बाद गांव मंे हादसे को लेकर गमनीन माहौल बना हुआ है।

जयपुर में पांच अक्टूबर को महारैली करेंगे प्रदेश के व्याख्याता

बांसवाडा,। सात सूत्री मांगपत्र को लेकर समूचे राज्य के व्याख्याता 5 अक्टूबर को जयपुर में महारैली का आयोजन करेंगे। अपनी मांगों को लेकर लम्बे समय से आंदोलन कर रहे व्याख्याताओं के दोनों संगठनों रेसा-पी के जिला अध्यक्ष विमल चौबीसा एवं रेसला के जिला अध्यक्ष विजयकृष्ण वैष्णव ने रविवार को बांसवाड़ा में यह घोषणा की।  उन्होने बताया कि रेसा-पी के प्रदेशाध्यक्ष प्रमोद मिश्रा एवं रेसला के अध्यक्ष मोहन सिहाग की अगुवाई में 23  सितम्बर से जयपुर के शिक्षा संकुल के बाहर धरना जारी है। अब मांगों को लेकर आर-पार की लडाई का मानस बना लिया हैं और 5 अक्टूबर को जयपुर में होने वाली महारैली की तैयारियां पूरे प्रदेश में की जा रही हैं ताकि राज्य सरकार को अपने शक्ति प्रदर्शन से वाजिब मांगे पूरी करने संदेश दिया जा सकें। चौबीसा एवं वैष्णव ने सात सुत्रीय मांगों का ब्यौरा दिया व बताया कि उच्च माध्यमिक विद्यालयों में प्रधानाचार्य के पद पर पदोन्नति हेतु प्रदेश में कार्यरत व्याख्याताओं व माध्यमिक विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों के संख्यात्मक अनुपात को देखकर वरिष्ठता सूची बनाई जाए तथा पदोन्नति में 92:8 के अनुपात से पदोन्नति की जाए।

उन्होंने बताया कि प्रदेश के समस्त राज्य कर्मचारियों के लिए सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को शीघ्र लागू किया जाए और इसके सभी परिलाभ केन्द्र के अनुरूप दिए जाएं। उन्होंने सातवें वेतन आयोग में प्रधानाचार्य का वेतन स्थिरीकरण केन्द्र के अनुरूप करने, प्राध्यापकों का वेतन स्थिरीकरण केन्द्र के समकक्ष करने, काऊसलिंग में वंचित जुलाई 2015 की सूची से पदोन्नत इच्छुक प्रधानाचार्य व 2015 में आरपीएससी-डीपीसी द्वारा चयनित प्राध्यापकों को प्रदेश में रिक्त पदों पर पदस्थापन का मौका देने, नवपदोन्नत प्रधानाचार्यों का वेतन स्थिरीकरण नियम 24 की सही व्याख्या कर सभी जिलों में समान रूप से करने जाए तथा जुलाई 2013 से पूर्व पदोन्नत प्रधानाचार्य व इसके बाद पदोन्नत प्रधानाचार्य के वेतनमान की विसंगति को दूर करने की मांग की। उन्होंने बताया कि जयपुर में होने वाली महारैली में प्रदेश के शिक्षक जमा होंगे और सरकार के समक्ष अपने मांगपत्रों को लेकर सशक्त उपस्थिति दर्ज कराएंगें।