हड़ताल खत्म, काम पर लोटे चिकित्सक

जयपुर। प्रदेश के मरीजों के लिए राहत की खबर है। प्रदेश में 33 मांगों को लेकर सात दिन से चल रही डॉक्टरों की हड़ताल रविवार देर रात सवा ग्यारह बजे खत्म करने का ऐलान किया गया। इस संबंध में सचिवालय में रविवार को देर रात सवा ग्यारह बजे वार्ता सफल रही।

चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ के साथ वार्ता के बाद अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सा संघ के प्रदेशाध्यक्ष अजय चौधरी और उनके प्रतिनिधिमंडल ने हड़ताल खत्म कराने का ऐलान कर दिया है। सोमवार से डॉक्टर काम पर लौट आए हैं।

अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सा संघ के प्रदेशाध्यक्ष अजय चौधरी ने कहा कि उनकी मांगें सरकार ने मांग ली हैं। इनमें ग्रेड पे 10 हजार रुपए करने और डेट ऑफ इजिबिलीटी से एरियर का लाभ मिलने सहित अन्य मांगों पर सहमति बन गई है। सरकार ने रेजिडेंट्स की मांगों पर भी सकारात्मक रुख दिखाया है।

इन मांगों पर बनी सहमति

अखिल राजस्थान सेवारत चिकित्सा संघ के प्रदेशाध्यक्ष अजय चौधरी ने बताया कि 10 हजार ग्रेड पे करने, वेतन विसंगतियां दूर करने, अतिरिक्त निदेशक पद पर तैनात गजेटेज अधिकारी को हटाने, विधि सहायकों की नियुक्ति करने, चिकित्सा भत्तों का भुगतान होने, विदेश यात्रा के नियमों का सरलीकरण होने, एरियर की वसूली नहीं करने, मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को नए वाहन उपलब्ध कराने, नीम-हकीमों पर कार्रवाई के लिए सेल गठित करने, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में आवश्यकतानुसार लिपिक नियुक्त करने, ग्रमीण चिकित्सा भत्ता को 500 से बढ़ाकर 1000 रुपए करने सहित अन्य मांगों पर सहमति बनी है। अस्पतालों का संचालन एकल पारी में करने की मांग मुख्यमंत्री पर छोड़ी गई है।

Related Posts

Leave A Comment