ऊना में मोदी बोले, हिमाचल में चल रही है भाजपा की आंधी

ऊना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को हिमाचल प्रदेश के ऊना में भारत माता की जय के साथ भाषण शुरू किया। मोदी ने कहा कि प्रेम कुमार धूमल सुजानपुर के प्रत्याशी भी हैं। पीएम ने कहा कि ऊना की धरती गुरुओं की नगरी है, कल ही हमने गुरुनानक देव जी का स्मरण किया और आज मुझे गुरु की धरती पर आने का सौभाग्य मिला।

मोदी ने ऊना की धरती को प्रणाम करते हुए कहा कि प्रेम कुमार धूमल कह रहे थे कि ऊना हिमाचल का प्रदेश द्वार है, मुझे भी इस प्रवेश के साथ मां का आशीर्वाद प्राप्त हुआ। मोदी ने कहा कि मेरा ये तीसरा दिन है, जिसमे मुझे आपका आशीर्वाद मिला, बहुत चुनाव देखे हैं, लड़े भी लदवाए भी हैं। कोई ऐसा गांव नहीं, जिसमे मैंने वालंटियर के नाते जमीन पर बैठ कर काम न किया हो। लोकसभा का चुनाव में पहुंचा था, अब विधान सभा के चुनाव में पहुंचा हूं, यहां तो आंधी चल रही है।भ्रष्टाचार के खिलाफ, जनसामान्य का गुस्सा फूट पड़ा है।

इससे पहले धूमल सहित कई नेताओं ने मोदी का जोरदार स्वागत किया। मोदी की जनसभा में भारी भीड़ उमड़ी है। इसके बाद मोदी कांगड़ा व कुल्लू में जनसभा को संबोधित कर भाजपा उम्मीदवारों को संबल देंगे। विधानसभा चुनाव प्रचार के अंतिम दौर में मोदी का हिमाचल दौरा कई मायने में अहम माना जा रहा है। प्रधानमंत्री कांगड़ा जिला के पालमपुर और इसके बाद कुल्लू जिला के ढालपुर मैदान में प्रदेश की कांग्रेस सरकार के खिलाफ गरजेंगे।

पीएम बोले- अब बेनामी संपत्ति की बारी –

जेएनएन, धर्मशाला। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साफ संकेत दिए हैं कि भ्रष्टाचार के खिलाफ मुहिम में अब बेनामी संपत्ति के खिलाफ बड़ी कार्रवाई होगी। हिमाचल प्रदेश में मंडी जिले के सुंदरनगर और कांगड़ा जिले के रैत की चुनावी सभाओं में उन्होंने भ्रष्टाचार, कालाधन व बेनामी संपत्ति के संदर्भ में कांग्रेस पर तीखा हमला बोला। कहा, कांग्रेस नेताओं को बेनामी संपत्ति छिनने का डर सता रहा है। आठ नवंबर को कांग्रेसी छाती पीटेंगे, जबकि सरकार बेनामी संपत्ति को लेकर कार्रवाई करेगी।

कांग्रेस के लोगों द्वारा रिश्तेदारों, चालकों व नौकरों के नाम पर बनाई करोड़ों की संपत्ति सरकार वापस लेगी और उसे गरीबों में बांटा जाएगा।

कांग्रेस के प्रस्तावित ‘काले दिवस’ पर तंज करते हुए उन्होंने कहा कि गरीबों का लूटा हुआ पैसा वापस करने पर कांग्रेस के नेताओं को पीड़ा हो रही है, इसलिए आठ नवंबर को छाती पीटने व घडि़याली आंसू बहाने का कार्यक्रम रखा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि वह सरदार पटेल के शिष्य हैं, इसलिए अपने पुतले जलाए जाने से डरने वाले नहीं। नोटबंदी से जिन्हें परेशानी हुई है वह मुझे चैन से बैठने नहीं देंगे, लेकिन मेरा यह सपना है कि मैं देश को ईमानदारी के रास्ते पर लाऊं यही कर भी रहा हूं।

Related Posts

Leave A Comment