पूर्व विधायक पर मजदूरी न देने का आरोप, एससी-एसटी कोर्ट में शिकायत दर्ज

धौलपुर। बसपा के आरोपी पूर्व विधायक बीएल कुशवाह पर अब उनकी गरिमा फैक्ट्री में काम करने वाले मजदूरों की मजदूरी मारने के साथ ही उन्हें डराने धमकाने का आरोप लगा है। मामले पर धौलपुर एससी-एसटी कोर्ट में याचिका दायर की गई है।

दरअसल, बसपा के पूर्व विधायक और वर्तमान में धौलपुर की भाजपा विधायक शोभारानी कुशवाह के पति छात्र नेता नरेश कुशवाह हत्याकांड के मामले में जेल में बंद है। लेकिन इसके बावजूद भी उन्हें विवादों से छुटकारा नहीं मिल रहा है।

विशेष न्यायालय एससी-एसटी कोर्ट में राकेश और अमन कुमार ने मैजिस्ट्रेट को शिकायत करते हुए पूर्व विधायक बीएल कुशवाह के विरुद्ध मामला दर्ज करवाया है। जिसमें आवेदकों ने कहा है कि उन्होंने एक जनवरी 2014 से 25 सितंबर 2014 तक आरोपित पूर्व विधायक बीएल कुशवाह की मनिया-सैया रोड़ पर स्थित गरिमा फैक्ट्री में मजदूरी का काम किया था, लेकिन काम की मजदूरी अबतक नहीं मिली है।

शिकायत पत्र में पीड़ित मजदूरों ने आरोप लगाते हुए लिखा है कि जब पूर्व विधायक को छात्र नेता नरेश कुशवाहा की हत्या की साजिश रचने के आरोप में जेल में रह रहे पूर्व विधायक से 18 अक्टूबर को दोनों मजदूर अपनी मजदूरी मांगने के लिए धौलपुर जिला कारागार पहुंचे और मजदूरी दिलाने का आग्रह किया तो उन्होंने उन दोनों पर नाराज होते हुए उन्हें डराया और धमकाया।

शिकायत कर्ता ने पत्र में लिखा है कि विधायक ने कहा कि मैं जेल में हूं और तुम्हें अपने पैसों की पड़ी है, मैं समझ रहा था कि तुम मुझसे मेरी राजी-खुशी जानने आए होंगे। साथ में विधायक ने दोनों को जातिसूचक शब्द और अभद्र भाषा से भी अपमानित किया।

Related Posts

Leave A Comment