‘मणिकर्णिका’ के शूट को लेकर सजा आमेर

जयपुर। मणिकर्णिका की शूटिंग के लिए कंगना फिलहाल जयपुर में हैं। शूटिंग कूकस स्थित एक लोकेशन के साथ आमेर, नाहरगढ़ और जयगढ़ में भी होगी। फिल्म के फाइट सीक्वेंस के लिए कंगना तलवारबाजी और घुड़सवारी की ट्रेनिंग ले रही हैं।

इसी के चलते आमेर महल के दीवान-ए-आम में मणिकार्णिका ‘द क्वीन ऑफ झांसीÓ फिल्म की शूटिंग शुरू हुई। इस दौरान दीवान ए आम को खूबसूरत तरीके से सजाया गया। जहां फिल्म के दृश्य फिल्माए जा रहे थे, उस हिस्से को चारों ओर से ढक दिया गया था, जिससे कोई पर्यटक उस तरफ ना आ सके। करीब 3 से साढ़े तीन बजे के आसपास कंगना की गाड़ी जैसे ही जलेब चौक के पास आकर रुकी, पर्यटकों की निगाहें कंगना की एक झलक देखने को उत्सुक दिखी। गाड़ी से उतरकर कंगना को अधीक्षक कार्यालय के पास से होते हुए दीवान ए आम ले जाया गया। इस दौरान सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए। किसी को भी शूटिंग वाले हिस्से में जाने की अनुमति नहीं थी।

यह फिल्म 27 अप्रेल को रिलीज होगी और इसे कृष डायरेक्ट कर रहे हंै। हाल में कंगना के किरदार से जुड़ा एक स्केच जारी हुआ था ऐसे में हो सकता है कंगना इसी तरह के किरदार में ढलकर शूट करेंगीं। यहां कंगना के घुड़सवारी और तलवारबाजी की पहले रिहर्सल होगी और उसके बाद फिल्म की शूटिंग होगी। जिसमें रानी लक्ष्मीबाई बच्चे को पीठ पर बांधकर घोड़े पर सवार होकर युद्ध लड़ेगी। बुधवार को आमेर महल में शूटिंग की तैयारियां शुरू हुई। शूटिंग के लिए दीवान-ए- आम के चारों तरफ चटाई के परदे लगाए गए। वहीं अंदर के भाग के फर्श पर महंगे कालीन बिछाए गए।

दीवान-ए- आम के बाहर एक खास तरह का एंट्री गेट भी बनाया गया। इस एंट्री गेट पर पीतल के दो हाथियों रखे गए। वहीं अंदर के भाग में पीतल के बड़े-बड़े लैंप और थाल रखे गए। थाल खाली ही रखे गए थे। एक खास तरह के लकड़ी के सिंहासन के पास ही तांबे और चांदी के बर्तन रखे गए। दीवान-ए-आम के बाहर वाले चौक में एक पालकी भी रखी हुई है।

शूटिंग को लेकर कम नहीं हुआ रुझान
शहर में संजय लीला भंसाली पर हुए हमले के बाद यह सुनने में आ रहा था कि अब बॉलीवुड कलाकार शहर से उखड़े हुए रहेंगे लेकिन कंगना के आने के बाद यह साफ है कि ऐसे हिस्टोरिकल शूट यहां होते रहेंगे। लेकिन पूरी सुरक्षा के साथ।
गौरतलब है कि मणिकर्णिका: क्वीन ऑफ झांसी नाम की इस फिल्म में कंगना रानी लक्ष्मीबाई की भूमिका निभाती नजर आएंगी।

फिल्म के लिए कंगना जी जान से जुटी हुई हैं। कंगना रनौत इस फिल्म की शूटिंग करते हुए बुरी तरह घायल भी हुई थीं। उन्होंने कहा था कि मुझे खुशी है कि रानी लक्ष्मीबाई की फिल्म बनाने में अपना खून दिया है। रानी लक्ष्मीबाई वीर योद्धा थी इसलिए मैं इस निशान के साथ शूटिंग करूंगी।

Related Posts

Leave A Comment