रईसजादों की रफ्तार का कहर: पुलिसकर्मी को किया घायल, फिर भी पुलिस छुपा रही आरोपी की पहचान

जयपुर। एक बार फिर से रईसजादों की रफ्तार का कहर टूटा है इस बार इसका शिकार पुलिसवाले खुद ही हुए हैं। मंगलवार रात को एक तेज रफ्तार कार ने नाकाबंदी के दौरान सेंट्रल पार्क के सामने नाकाबंदी कर रही चेतक को टक्कर मार दी। जिसमें चेतक चालक गंभीर घायल हो गया। लेकिन फिर भी पुलिस आरोपियों की पहचान छुपाने में लगी है।

अशोक नगर थाने की चेतक देर रात सेंट्रल पार्क के गेट नम्बर तीन व चार के बीच नाकाबंदी कर रहे थे। इसी दौरान रात करीब पौने एक बजे एक तेज रफ्तार कार ने बेकाबू होकर चेतक को टक्कर मार दी। इससे चेतक में सवार चालक सीताराम गंभीर रूप से घायल हो गया। हादसे के बाद पुलिस ने कार चला रही युवती व उसके प्रेमी को पकड़ लिया। जानकारी के अनुसार युवती ने शराब पी हुई थी। यहीं नहीं हादसे के बाद युवती ने अपने प्रेमी संग मिलकर जमकर उत्पात मचाया जिन्हें किसी तरह पुलिस पकड़ कर थाने पर ले आई।

हालांकी रईसजादों को रात में ही जमानत पर छोड़ दिया गया। हादसे में चेतक का पीछे का हिस्सा बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। पुलिस के अनुसार कार आदर्श नगर निवासी एक युवती चला रही थी साथ में उसका दोस्त था। हादसे के समय पर चेतक हैड कांस्टेबल शंकर लाल, कांस्टेबल रामनिवास, चालक सीताराम व कांस्टेबल हनुमान तैनात थे। हादसा पृथ्वीराज रोड पर हुआ। मामले की जांच सड़क दुर्घटना अनुसंधान इकाई साउथ कर रही है।

अशोक नगर थाने में रात्रि ड्यूटी ऑफिसर एसआई कृष्ण कुमार ने बताया कि युवती, उसके प्रेमी व प्रेमी का दोस्त शराब के नशे में धुत्त थे। युवक-युवती ने पुलिस पूछताछ में बताया की वो शहर घूमने निकले थे। रात को एक रेस्टोरेंट में खाना खाने के बाद वे सभी घर लौट रहे थे। इसी दौरान यह हादसा हो गया।

हादसे की सूचना पर युवती के परिजन भी थाने पर पहुंचे और उन्हें जमानत पर छुड़ाकर ले गए। इस मामले में पुलिस ने मामला तो दर्ज कर लिया है लेकिन आश्चर्य की बात ये है कि पुलिसकर्मी के गम्भीर घायल होने के बाद भी पुलिस आरोपीयों की पहचान जाहिर नहीं कर रही है।

Related Posts

Leave A Comment