Breaking News

डेरा सच्चा सौदाः दूसरे दिन की तलाशी में मिली पटाखा फैक्ट्री, हिंसा फैलाने के 3 आरोपी गिरफ्तार

सिरसा। राम रहीम को सजा सुनाए जाने के बाद हुई हिंसा के संबंध में पंचकूला एसीपी मुकेश मल्होत्रा के नेतृत्व में बनी एसआईटी को मिली बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने तीन अनुयायियों को किया गिरफ्तार किया है जिनपर 5 करोड़ खर्च कर हिंसा भड़काने का आरोप है। इनके नाम चमकौर सिंह, कर्मजीत और दानसिंह हैं। डेरा पंचकूला शाखा का हेड चमकौर सिंह हिंसा भड़काने का मुख्य आरोपी है। इसके अलावा दानसिंह को कानून का बड़ा जानकार बताया जा रहा है। डेरे में ताले तोड़वाने के बाद विस्फोटक भी बरामद हुए हैं साथ ही एक अवैध पटाखा फैक्ट्री को सील किया गया है।

बुधवार को एसआईटी ने बताया था कि डेरा ने हिंसा भड़काने के लिए 5 करोड़ खर्च किए थे। जांच में पता लगा है कि पंचकूला शाखा के हेड जमकौर सिंह और डेरा प्रबंधन ने पैसा खर्च करने की जिम्मेदारी सौंपी थी। पंजाब के मोहाली जिले के ढकोली गांव का रहने वाला चमकौर देशद्रोह का केस दर्ज होने के बाद से अपने परिवार समेत फरार चल रहा था। पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट के निर्देश के बाद उसके खिलाफ 28 अगस्त को देशद्रोह का केस दर्ज हुआ।

शनिवार सुबह दूसरे दिन डेरे में तलाशी शुरू हुई। पंजाब से बुलाए गए 14 लोहारों ने डेरा प्रबंधन कार्यालय में लगे ताले तोड़े। डेरे में एक अवैध पटाखा फैक्ट्री भी थी। फैक्ट्री को सील कर दिया गया है। इसमें पटाखों के अलावा विस्फोटक सामग्री भी बरामद हुई है।

Related Posts

Leave A Comment