Breaking News

उमा ने कहा कि जल संसाधन मंत्रालय बदलना प्रदर्शन से जुड़ा नहीं

जल संसाधन मंत्रालय से हटाये जाने के कुछ दिन बाद केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने आज कहा कि इसकी वजह प्रधानमंत्री की प्रिय नामामि गंगे परियोजना को लागू कराने में विफल रहना नहीं है।

भारती ने उन अटकलों को खारिज किया कि प्रधानमंत्री मोदी उनके प्रदर्शन से खुश नहीं थे इसलिये उन्हें कम महत्व वाले पेय जल और स्वच्छता मंत्रालय में शिफ्ट किया गया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने तीन सालों में उन्हें महज मोटा होने के लिये दो बार टोका है, किसी और वजह से नहीं।

उमा ने कहा कि वह गंगा को स्वच्छ रखने के लिये जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से यात्रा करेंगी।

उन्होंने कहा, यह दावा किया गया कि मैं विफल रही जल संसाधन मंत्री के तौर पर। कल नीतिनजी गडकरी ने खुद कहा था कि वह गंगा के मुद्दे पर मुझासे जुड़े हुये थे।

उन्होंने संवाददाताओं को बताया, अगर हम विफल हुये तो उन्हें विभाग कैसे मिला इसका मतलब है कि स्वच्छ गंगा के मोर्चे पर हम विफल नहीं रहे। जमीनी स्तर पर जो भी काम करने की जरूरत थी किया गया।

उन्होंने कहा कि उनके और गंगा के बीच कोई नहीं आ सकता तथा घोषणा की कि वह पेयजल और स्वच्छता मंत्री के तौर पर नदी किनारे गांवों में स्वच्छता बनाये रखने के लिये लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से यात्रा करेंगी।

एक सवाल के जवाब में उन्होंने हालांकि स्पष्ट किया कि इस यात्रा को अवग्या के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिये क्योंकि इसकी योजना एक साल पहले बन गयी थी।

Related Posts

Leave A Comment