Breaking News

नगर निगम वार्ड 77: व्यावसायिक गतिविधियों से बढ़ी आमजन की समस्या

जयपुर। (योगेश शर्मा) परकोटा क्षेत्र में रास्तों के नाम पर प्रसिद्ध इस वार्ड में स्थानीय निवासियों को सड़क, झूलते विद्युत तार, पेयजल लाइन जैसी मूलभूत समस्याओं से निजात मिलने से लोगों को काफी हद तक राहत मिली है। लेकिन वार्ड की मुख्य समस्या अतिक्रमण और पार्किंग व्यवस्था के दुरुस्त नहीं होने से उनका सिरदर्द बढ़ गया है।

बाजारों में आने-जाने वाले ग्राहक और स्थानीय निवासियों के सामने पार्किंग को लेकर विकट समस्या है। स्थाई समाधान नहीं होने से विभिन्न रास्तों में बार-बार जाम की स्थिति उत्पन्न होने लगती है। गलियों में व्यापारी, ग्राहक और स्थानीय लोगों के वाहन फंस जाने के कारण कई बार घंटों लम्बा जाम लग जाता है।

तकरीबन 30 हजार की आबादी के इस वार्ड में बालानंदजी का रास्ता, बगरू वालों का रास्ता, जाट के कुएं का रास्ता, जयलाल मुंशी का रास्ता, गोविंदरावजी का रास्ता, नाहरगढ़ रोड, दीनानाथ जी का रास्ता, राजा शिवदासजी का रास्ता चांदपोल हनुमानजी मंदिर से लेकर छोटी चौपड़, गणगौरी बाजार, जाट के कुएं के रास्ते का पांचवां चौराहा, चौगान स्टेडियम, बारांजी का घेर, हरिजन बस्ती, गुलाब बाड़ी तक विस्तृत क्षेत्र में फैले इस वार्ड में हालांकि अब तक छह करोड़ रुपए के विकास कार्य पूरे हो चुके हैं जिससे लोगों को बहती सीवरेज, क्षतिग्रस्त सड़कें, गंदे पानी और विद्युत लाइनों से काफी हद तक छुटकारा मिला है।

शौचालय निर्माण से मिली सुविधाएं
चाहे व्यापारी हों या फिर अन्य बाजारों में आने वाले ग्राहक हर वर्ग को शौचालय जैसी सुविधाएं मिलने से वार्ड में महिला और पुरुष वर्ग को बड़ी राहत मिलने लगी है।

हालांकि पूर्व में यहां इस तरह की व्यवस्था नहीं होने से लोगों को परेशानियों के दौर से गुजरना पड़ता था। लेकिन अब नाहरगढ़ रोड, बोरड़ी के कुएं का रास्ता, गणगौरी बाजार, गोपीनाथ जी का मंदिर, जयलाल मुंशी का रास्ता पर पृथक से महिला-पुरुष शौचालय निर्माण होने से लोगों को शंका निवारण से काफी राहत मिली है।

सड़क निर्माण को सर्वाधिक बल
स्थानीय नागरिकों के अथक प्रयासों के चलते वार्ड में पूर्व में क्षतिग्रस्त हो चुकी सड़कों के निर्माण को तेजी से गति मिली है। सड़क निर्माण के क्षेत्र में राजा शिवदासजी का रास्ता, गणगौरी बाजार, गोविंदराव जी का रास्ता, जयलाल मुंशी का रास्ता, बगरू वालों का रास्ता, बारह भाईयों का चौराहा, पल्लीवालों का दरवाजा सहित कई रास्तों में सड़क निर्माण को मजबूती मिलने से लोगों को क्षतिग्रस्त सड़कों से राहत मिलने लगी है। वार्ड में अधिकतर सड़कें दुरुस्त होने से लोगों की आवाजाही सुगम हुई है।इतना ही नहीं यहां अधिकतर विद्युत लाइनें भी अंडर ग्राउंड हो चुकी हैं।

एल शेप नालियों से सड़कों पर बहता पानी
मुख्य चांदपोल बाजार में अधिकतर एल शेप नालियां होने के कारण गंदे पानी की निकासी नहीं होने से आए दिन मुख्य सड़क पर नालियों का पानी भरने लगता है। जिससे लोगों की आवाजाही प्रभावित होती है। हालांकि इस संबंध में स्थानीय व्यापारियों ने कई बार निगम कार्यालय में शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है।

स्थिति यह है कि जब भी तेज बरसात होती है तो इन नालियों का पानी मुख्य सड़क पर बहने लगता है। गंदे पानी की निकासी की माकूल व्यवस्था नहीं होने से लोगों को परेशानी होने लगती है।

मुख्य सड़क पर हादसे को आमंत्रण
नाहरगढ़ रोड स्थित मुख्य सड़क पर वर्षों से लगा विद्युत बॉक्स नहीं हटाए जाने से जहां यातायात प्रभावित हो रहा है वहीं आने-जाने वाले लोगों को दुर्घटनाओं का आमंत्रण मिल रहा है।

हालांकि इस बॉक्स को हटाए जाने को लेकर स्थानीय निवासियों की ओर से कई बार विद्युत निगम और स्थानीय पार्षद से मांग की गई लेकिन कोई समाधान नहीं निकला। जबकि इस बॉक्स के चलते लोगों को काफी परेशानी हो रही है। एक ओर तो इससे यातायात बाधित हो रहा है दूसरी ओर रास्ते के दोनों ओर वाहन पार्किंग होने से लोगों को आने-जाने में दिक्कत होने लगी है।

पार्किंग समस्या का समाधान नहीं
ड्राई फ्रूट्स एवं किराना के क्षेत्र की अग्रणी मंडी दीनानाथजी की गली में प्रतिदिन हजारों थोक और फुटकर विक्रेताओं के अलावा भारी संख्या में प्रदेशभर से खरीददारी के लिए आने वाले ग्राहकों को पार्किंग सुविधा नहीं मिलने से अक्सर यहां जाम की स्थिति रहती है। मंडी में पार्किंग व्यवस्था दुरुस्त हो इसको लेकर यहां के स्थानीय व्यापारी पिछले 7-8 साल से अलग से किराना एंड ड्राईफ्रूट्स मंडी विकसित किए जाने की मांग कर रहे हैं लेकिन इस संबंध में अभी तक कोई ठोस कार्यवाही नहीं होने से असुविधाओं के घेरे में कारोबार करना व्यापारियों की मजबूरी बनी हुई है।

इनका 

 

बाजार में व्यावसायिक गतिविधियों के चलते पार्किंग के अलावा अतिक्रमण की जबर्दस्त समस्या बनी हुई है। इसके समाधान को लेकर व्यापारियों ने कई बार निगम प्रशासन के अधिकारियों से भी समस्या के स्थाई समाधान की मांग की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। दूसरी ओर इस बाजार में वाहन जप्ब्त करने वाली गाड़ी नहीं आने से अन्य बाजार और गलियों के व्यापारी और ग्राहकों के वाहन इसी मार्केट में आड़े-तिरछे लगे रहते हैं। जिससे बाजार में खरीददारी के लिए आने वाले ग्राहकों को पार्किंग नहीं मिल पाती इससे उनका रुझान अन्य बाजारों की तरफ बढऩे लगा है। बाजार से ग्राहकी गायब होने लगी है। पार्किंग-अतिक्रमण से व्यापारियों को राहत मिले इसके कई बार प्रयास किए गए लेकिन कोई हल नहीं निकला।

-सुभाष गोयल, अध्यक्ष, 

चांदपोल बाजार व्यापार मंडल

मुख्य मार्ग पर व्यावसायिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलने के साथ ही बाजार में पार्किंग की माकूल व्यवस्था नहीं है। जिससे आने वाले ग्राहकों को या तो अन्य बाजारों में वाहन पार्क करना पड़ता है या फिर घंटों खड़े रहकर वाहन हटने का इंतजार। ऐसी स्थिति में लोगों को पार्किंग नहीं मिलने से वे अन्य बाजारों से ही खरीददारी को महत्व देने लगे हैं जिससे बाजार की कारोबारी ग्रोथ प्रभावित हो रही है। जबकि यह बाजार सौंदर्य प्रसाधन, गिफ्ट उत्पाद और हस्तकला के क्षेत्र में जयपुर के अग्रणी बाजारों में शुमार है। लेकिन इतना सब कुछ होने के बाद भी बाजार में न तो एटीम है और न ही कोई बैंक। जिससे व्यापारियों को दो से तीन किलो मीटर चलकर लेन-देन के लिए आना-जाना पड़ता है। जिससे उनका काफी समय बैंकों के चक्कर काटने में गुजर जाता है।

-विमल कुमार पारीक,
नाहरगढ़ रोड, व्यापारी

ये हैं गणमान्य नागरिक
वार्ड में चाहे छोटी समस्या हो या बड़ी.. उसे हल करवाने के लिए श्याम अग्रवाल, पुरुषोत्तम अग्रवाल, प्रमिल पारीक, अनिल शर्मा, गोविंद कूलवाल, हेमंत चौहान, मोहित वर्मा, फूलचंद साहू, घनश्याम सैन, महेंद्र साहू, वीरेन्द्र कौशिक और नीलम पारीक सहित अनेक गणमान्य नागरिक तैयार रहते हैं।

———————————————————————

Related Posts

Leave A Comment