Breaking News

बिहार यात्रा पर पटना पहुंचे शरद यादव ने कहा, 11 करोड़ जनता से किया ‘ईमान का करार’ टूटा

पटना। बिहार में राजनीतिक उथल-पुथल तेज है। जहां शरद यादव बिहार दौरा कर रहे हैं वहीं जदयू उन्हें बाहर का रास्ता दिखाने की तैयारी में है। अपने दौरे के लिए पटना पहुंचे शरद यादव ने एक बार फिर से नीतीश कुमार का नाम लिए बिना कहा कि हमने गठबंधन 5 साल के लिए किया था, राज्य के 11 करोड़ लोगों को विश्वास टूटा है।

उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में विश्वास का संकट आ गया है और इस संकट पर जनता से राय लेने के लिए मैं बिहार आया हूं। बिहार की जनता की राय लेना चाहता हूं कि विश्वास टूटने के बाद जनता क्या सोचती है। बिहार में नई गठबंधन की सरकार बनी है, लेकिन महागठबंधन के लिए कड़ी मेहनत की गई थी और महागठबंधन को जनादेश मिला था।

बता दें कि बिहार में नीतीश कुमार द्वारा इस्तीफे और नई सरकार बनाने के बाद से ही शरद यादव के विरोध में नजर आ रहे थे। उनके इसी विरोध का शायद नतीजा है कि जदयू उनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें बाहर का रास्ता दिखाने की तैयारी में है।

सूत्रों का दावा है कि शरद यादव के खिलाफ पार्टी कार्रवाई कर सकती है और उन्हें निलंबित भी किया जा सकता है। पार्टी व्हिप का उल्लंघन करने पर उनकी राज्यसभा से सदस्यता भी जा सकती है।

शरद यादव पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने को आधार बनाकर कार्रवाई की जा सकती है। कहा जा रहा है कि जदयू राज्यसभा सासंद के लिए किसी नए व्यक्ति को भी चुनने की तैयारी में है। बता दें कि बिहार में सत्ता परिवर्तन के बाद शरद यादव ने इसके प्रति असहमति जताते हुए सवाल उठाए थे।

आज से बिहार का दौरा

जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और पार्टी के वरिष्ठ नेता शरद यादव अपने तीन दिन की यात्रा पर बिहार आ रहे हैं। यहां वे जनता के बीच जाकर गठबंधन टूटने के कारणों और उसके बारे में जनता का निर्णय जानने की कोशिश करेंगे।

वहीं उनके आने से पहले जदयू से निकाले गए गुजरात के पार्टी महासचिव अरुण श्रीवास्तव आज सुबह पटना पहुंचे। हालांकि शरद के बिहार दौरे को लेकर जदयू ने कहा है कि वो उनका अपना निजी दौरा है और पार्टी को इससे कोई लेना-देना नहीं है।

बता दें कि बिहार में महागठबंधन टूटने और उसके बाद भाजपा से हाथ मिलाकर नीतीश कुमार के राजनीतिक पालाबदल पर शरद खासे नाराज चल रहे हैं और अपना बिहार दौरा शुरू करने से पहले भी उन्होंने कहा कि महागठबंधन के टूटने से मुझे बड़ी चोट पहुंची है। खास तौर पर बिहार की 11 करोड़ जनता का भरोसा टूटा है।

Related Posts

Leave A Comment