Breaking News

कैमरे ने खोला चोटी कटने का सच, पहले खुद ही काटकर पटक गई, आधे घंटे बाद आकर हंगामा करने लगी

जयपुर
महिलाओं की चोटी कटने की मारवाड़ से शुरू अफवाह राजधानी तक आ फैली है। सांगानेर क्षेत्र में शुक्रवार को ऐसी तीन घटनाएं सामने आईं। लेकिन हाथोंहाथ सच खुल भी गया। एक मामले में घटनास्थल पर लगे कैमरे से पता चला कि महिला पहले खुद ही चोटी काटकर पटक गई। फिर आधे घंटे बाद लौटकर चोटी कटने का दिखावा किया और हंगामा करने लगी। पुलिस का मानना है कि अन्य घटनाओं में भी ऐसा ही हुआ है।पुलिस के अनुसार सांगानेर क्षेत्र में एक रिसोर्ट में मजदूरी कर रही महिला ने शुक्रवार शाम यह कहकर हंगामा कर दिया कि जानवर जैसे दिखने वाले किसी व्यक्ति ने उसकी चोटी काट दी। इस पर भीड़ जुट गई। पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे खंगाले तो महिला का झूठ पकड़ा गया। कैमरे में साफ नजर आ गया कि महिला पास में एक कमरे में गई थी। वहां दो मिनट ठहरी। फिर 4.03 बजे निकली और खुद ही बाल गिराकर चल दी। इसके बाद 4.33 बजे लौटी और उस जगह पहुंचते ही गिरने का नाटक करने लगी। हाथ में लाई पानी की बाल्टी फेंक दी।

कार्रवाई होगी, सच बताएंगे भी
इस मामले में पुलिस अब महिला के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगी। साथ ही ऐसी घटनाओं की तह तक जाएगी और अफवाह साबित कर सच जनता के समक्ष रखेगी।

दो अन्य जगह भी ऐसी घटनाएं
शिकारपुरा रोड पर जोतड़ावाला स्थित बाबाजी की ढाणी में भी एक महिला ने अपनी चोटी कटने की शिकायत की। उसका कहना था कि बाड़े में मवेशियों को चारा डाल रही थी तब किसी ने उसकी चोटी काट दी। हालांकि घर में किसी बाहरी व्यक्ति के घुसने की पुष्टि नहीं हुई। अन्य घटना में गोविंदपुरा में एक महिला बेसुध मिली। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर संबंधित परिवार को समझाया और अंधविश्वास से दूर रहने की सलाह दी।

सच नहीं, कोरी अफवाह : रेड्डी
चोटी कटने की बढ़ती अफवाह के मद्देनजर एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) एनआर रेड्डी ने आदेश जारी किया है। इसमें कहा है कि अफवाह की सूचना पर एसपी या एडिशनल एसपी मौके पर जाएं, सच का पता लगाकर लोगों को समझाएं। रेड्डी ने पत्रिका से कहा, किसी भी घटना में कोई सत्यता सामने नहीं आई है। यह कोरी अफवाह है।

— कोई गिरोह अफवाह फैलाकर अंधविश्वास बढ़ाना चाह रहा है। हम कार्रवाई कर रहे हैं।
सुमन शर्मा, अध्यक्ष, राज्य महिला आयोग

Related Posts

Leave A Comment