अमरनाथ यात्रा: आतंकवाद पर भारी आस्था, श्रद्धालुओं की संख्या में इजाफा

अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले से बेखौफ 4,000 से ज्यादा श्रद्धालु पवित्र गुफा मंदिर में बाबा बर्फानी के दर्शन करने के लिए जम्मू से रवाना हुए. गत 10 जुलाई को अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले के बाद से श्रद्धालुओं की संख्या में बढ़ोतरी हुई है. यह हमला अनंतनाग जिल में हुए थे जिसमें छह महिलाओं सहित सात यात्रियों की मौत हो गई और 19 जख्मी हो गए थे.

जिस दिन आतंकी हमला हुआ उस दिन 2,430 यात्री जम्मू से अमरनाथ की पवित्र गुफा मंदिर के लिए रवाना हुए थे. दूसरे दिन यह संख्या बढ़कर 3,289 हो गई, 12 जुलाई को 3,500 और 13 जुलाई को 3,971 यात्री जम्मू से रवाना हुए. वहीं शुक्रवार को यह संख्या बढ़कर 4,105 हो गई.

अधिकारी ने बताया कि सीआरपीएफ और पुलिस की सुरक्षा में 3,111 पुरुष, 892 महिलाओं और 102 साधू तथा साध्वियों का जत्था 191 गाड़ियों के काफिले में शुक्रवार को सुबह बालटाल और पहलगाम आधार शिविरों के लिए रवाना हुआ.

भगवती नगर आधार शिविर पर यात्रियों ने आतंकी खतरे की परवाह किए बिना पवित्र गुफा में हिम शिवलिंग के दर्शन करने के लिए अपनी यात्रा शुरू करने का प्रण लिया.

उनका उत्साह देखने लायक था और वह ‘बम बम भोले’ की जयकारे लगा रहे थे.

चेन्नई के कुमार राजा ने कहा, ‘‘ यात्रियों पर हुए हमले के बाद मेरे परिवार ने मुझसे घर वापस आने को कहा, लेकिन मैंने उनसे कहा कि अमरनाथ में दर्शन करने के बाद ही मैं घर लौटूंगा चाहे जीवित या मृत. मुझे खतरे की परवाह नहीं. भगवान शिव उसे देखेंगे.’’ इस यात्रा के शुरू होने से लेकर अबतक 1,77,134 यात्री बाबा बर्फानी के दर्शन कर चुके हैं.

Related Posts

Leave A Comment