Breaking News

GST: बिना इजाजत कारोबारियों के पास नहीं जा सकते टैक्स अधिकारी

नई दिल्ली। अनधिकृत टैक्स अधिकारी व्यापारियों की दुकान और प्रतिष्ठानों पर नहीं धमक पाएंगे। जीएसटी के लागू होने के बाद अब बिना अनुमति के व्यापारियों और दुकानदारों के परिसर में जाने के लिए कोई भी कर अधिकारी अधिकृत नहीं है।

इस तरह के किसी भी मामले की शिकायत के लिए एक हेल्पलाइन की शुरुआत भी की गई है। यह जानकारी शनिवार को सरकार की ओर से दी गई है। गौरतलब है कि वस्तु एवं सेवा कर कानून को 1 जुलाई से देशभर में लागू किया जा चुका है।

हाल ही में कुछ खबरें सामने आईं थीं कि कुछ असामाजित तत्वों ने जीएसटी ऑफिसर बनकर जीएसटी कानून का हवाला देकर कारोबारियों से उगाही करने की कोशिश की है।

इन शिकायतों के बाद ही केंद्रीय वित्त मंत्रालय की ओर से इस पर स्पष्टीकरण सामने आया है। चीफ कमिश्नर ऑफ जीएसटी (दिल्ली जोन) ने स्पष्ट किया कि टैक्स डिपार्टमेंट गुड्स एंड सर्विसेस टैक्स (जीएसटी) कार्यकाल के लागू होने के दौरान दुकानदारों और व्यापारियों के लिए प्रक्रिया को आसान बनाना चाहता है।

मंत्रालय की ओर से जारी किया गया बयान

मंत्रालय की ओर से जारी किए गए बयान में स्पष्ट किया गया, ‘डिपार्टमेंट के किसी भी अफसर को बिना इजाजत ट्रेडर्स और शॉपकीपर्स की परिसर पर विजिट करने का हक नहीं दिया गया है। समस्या आने पर टैक्स डिपार्टमेंट की फोन लाइन 011-23370115 पर शिकायत दर्ज कराई जा सकती है।’

इस बीच, वित्त मंत्री अण जेटली ने व्यापारियों और छोटे व्यवसायियों की मदद के लिए जीएसटी रेट फाइंडर नामक एक मोबाइल ऐप लॉन्च किया है। जीएसटी लॉन्च करने के बाद अब केंद्र सरकार आम लोगों और व्यापारियों को इसके बारे में सही जानकारी देने में लगी है।

Related Posts

Leave A Comment